Forgot your password?

Enter the email address for your account and we'll send you a verification to reset your password.

Your email address
Your new password
Cancel
वैसे तो हिंदी सिनेमा में बहुत से सिंगर हुए हैं, जिन्होने सिंगिगं के साथ एक्टिंग का भी हुनर दिखाया है, पर जो मुकाम किशोर कुमार को मिला है, वो शायद ही दूसरे कलाकार को मिला है। वैसे किशोर दा का अंदाज भी निराला था... कभी उन्होने प्यार और शरारत भरे अंदाज में गाए गीतो से दिलों को गुदगुदाया तो कभी दर्द भरे नग्मों के जरिए दुखते दिलों पर मरहम लगाई।
ऐसे हरफनमौला अंदाज वाले किशोर दा के चाहनें वालों की भी कमी नही थीं, वहीं किशोर दा का दिल आया इंडस्ट्री की चार खूबसूरत एक्ट्रेस पर जिनसे उन्होने शादी भी रचाई पर साथ किसी से ना निभ सका। आज 4 अगस्त को किशोर दा के 89वां जन्मदिवस के अवसर हम आपको उनकी जिंदगी के इस पहलू से रूबरू कराने जा रहे हैं।
बंगाली बाला रूमा गुहा बनी थी पहली जीवन संगिनी
जी हां, किशोर दा की पहली पत्नी बंगाली अभिनेत्री और गायिका रूमा गुहा थी, जिनसे उन्हें प्यार भी बेहद फिल्मी अंदाज में हुआ था, दरअसल उन दिनों किशोर कुमार और रुमा गुहा, मुंबई टॉकीज के लिए काम किया करते थे, ऐसे में एक बार काम के सिलसिले में किशोर कुमार और उनके दोस्त रुमा के घर गए हुए थे और संयोग से उस दिन रक्षाबंधन का त्यौहार था, इसलिए किशोर कुमार रुमा के घर में दाखिल नहीं हुए। तब जब रुमा ने उनके मित्र से पूछा कि आपके दोस्त क्यों नहीं आए, तब किशोर कुमार के दोस्त ने कहा कि वे आपसे राखी बंधवाना नहीं चाहते इसलिए वह बाहर ही खड़े हैं। तब रुमा ने बाहर निकल किशोर कुमार से मुलाकात की और फिर मुलाकातों का सिलसिला यूं चला कि इन दोनो के बीच दोस्ती और आखिरकार प्यार तक बात पहुंच ही गई।
इसके बाद साल 1951 में दोनों शादी रचा ली। लेकिन शादी के बाद भी रूमा का रूझान बंगाली फिल्मों की तरफ था, जबकि किशोर कुमार चाहते थें कि रूमा उनकी घर-गृहस्थी सम्भाले। ऐसे में दोनो के बीच मनमुटाव होने लगें जो कि इतने बाद में बढ गए कि दोनों ने तलाक लेने का फैसला किया और साल 1958 में दोनों अलग हो गए।
भारतीय सिनेमा की वीनस मधुबाला से रचाई दूसरी शादी
रुमा से तलाक के बाद किशोर दा का दिल भारतीय सिनेमा की वीनस कही जाने वाली मधुबाला पर आ गया। दरअसल उस वक्त मधुबाला भी दिलीप कुमार के इश्क़ में बेवफ़ाई के बाद टूट गई थीं। ऐसे में जब इसी दौरान मधुबाला को फिल्म ‘चलती का नाम गाड़ी’ में किशोर कुमार के साथ काम करने का मौका मिला तो किशोर दा ने अपने अपने हरफनमौला अंदाज से उनका दिल जीत लिया। ऐसे में दोनों की मोहब्बत परवान चढ़ी और फिर दोनों ने 1960 में कोर्ट मैरिज कर ली। इस शादी के बारे में खबरें यहां तक आई थी कि मधूबाला से शादी के बाद किशोर कुमार ने धर्मांतरण कर अपना नाम करीम अब्दुल्ला कर लिया था, क्योंकि मधुबाला का परिवार चाहता था कि उनका विवाह किसी मुस्लिम युवक से हो।
मधुबाला की बीमारी बनी इस बार जुदाई की वजह
किशोर कुमार से शादी के बाद से ही मधुबाला की तबीयत खराब रहने लगी, ऐसे में जब किशोर कुमार, मधुबाला को इलाज के लिए लंदन लेकर गए, तो पता चला कि मधुबाला के दिल में छेद है और वह अब दो साल तक ही जीवित रह पाएंगी। ऐसे में लंदन से आने के बाद किशोर कुमार ने मधुबाला को उनके मायके ये कहकर छोड़ दिया कि वह काम में बहुत व्यस्त हैं, इसलिए वे मधुबाला का ख़्याल नहीं रख पाएंगे। हालांकि मधुबाला के गम्भीर हालत को देखते हुए किशोर ने एक नर्स और एक ड्राइवर का इंतजाम उनके लिए कर दिया ।
इसके बाद किशोर कुमार तीन-चार महीने में एक बार मधुबाला से मिलने आते थे, ऐसे में मधुबाला भी पूरी तरह टूट गई और इस उन पर ना तो कोई दवा और ना कोई दुआ का असर हुआ । 23 फरवरी 1969 को मधुबाला की इस दुनिया और किशोर कुमार को छोड़ कर चली हमेशा के लिए चली गई। इस तरह मधुबाला के साथ किशोर कुमार की इस प्रेम कहानी का भी दुखद अंत हो गया।
योगिता बाली बनी तीसरी पत्नी
मधुबाला के जाने के 6 साल बाद किशोर कुमार के जीवन में योगिता बाली आईं। दरअसल फिल्म ‘जमुना के तीर में’ योगिता बाली और किशोर कुमार ने साथ काम किया था, हालांकि वो फिल्म तो अधूरी रह गई, पर किशोर कुमार को योगिता बाली के रूप में नई जीवनसाथी मिल गई। साल 1976 में किशोर ने योगिता से चट मंगनी और पट ब्याह कर डाला।
लेकिन योगिता के साथ किशोर की निभ ना सकी, इधर किशोर और योगिता के बीच अनबन शुरू , उधर योगिता की जिंदगी में मिथुन चक्रवर्ती आए और फिर योगिता से 1978 में किशोर कुमार का तलाक़ हो गया।
चौथी पत्नी के रूप में लीना चंद्रावरकर की एंट्री
योगिता बाली से तलाक के 2 साल बाद किशोर कुमार ने चौथी शादी रचाई और वो भी बॉलीवुड की खूबसरत एक्ट्रेस लीना चंद्रावरकर से। दरअसल उस समय लीना चंद्रावरकर की शादी हो चुकी थी, पर उनके पति सिद्धार्थ बंडोकर की गोली लग जाने के कारण मौत भी हो चुकी थी, ऐसे में जब सिद्धार्थ के जाने के बाद लीना अकेली हुई तो उन्हें किशोर कुमार का प्यार मिला।
जल्द ही दोनों ने शादी रचा ली और 2 साल के बाद इनके बेटे सुमित का जन्म भी हो गया , पर जैसे कुछ साल बाद ही किशोर कुमार के हंसते खेलते परिवार को किसी की नजर लग गई और 13 अक्टूबर 1987 को हार्ट अटैक से किशोर कुमार की मृत्यु हो गई। इसके साथ ही किशोर दा के जीवन सफर और वैवाहिक जीवन का अंत हो गया।
ऐसी रोचक और अनोखी न्यूज़ स्टोरीज़ के लिए गूगल स्टोर से डाउनलोड करें Lopscoop एप, वो भी फ़्री में और कमाएं ढेरों कैश वो भी आसानी से
Author: Yashodhara Virodai
YOUR REACTION
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0

Add you Response

  • Please add your comment.