Forgot your password?

Enter the email address for your account and we'll send you a verification to reset your password.

Your email address
Your new password
Cancel
अब तक क्रिकेट की दुनिया में बैट से लेकर हर उपकरणों, विज्ञापनों और मैचों को प्रायोजित करने वाले दो दिग्गज नाइकी और एडिडास ने क्रिकेट की स्पॉन्सरशिप से क्रिकेट जगत में सुनामी ला दी है। अब तो यह हाल हो गया है कि आईसीसी से लेकर बीसीसीआई तक सभी के चेहरे पर चिंता की लकीरें खिच गई हैं। नाइकी ने तो पिछले साल ही विराट कोहली जैसे खिलाड़ी को प्रायोजित करने से पीछे हटकर इसके संकेत दे दिए थे।
अब एडिडास ने उसी की राह चलने का फैसला लेकर क्रिकेट जगत में भूचाल ला दिया है। सभी प्रमुख क्रिकेटरों के मैनेजर इस समय नए अनुबंध के लिए स्पॉन्सर तलाशते दिख रहे हैं। सौ करोड़ चाहनेवाले कई क्रिकेटर अब 20-25 करोड़ पर भी करार करने को तैयार हो गए हैं।
नाइकी के बाद अब एडिडास भी क्रिकेट से हटा
एडिडास फिलहाल भारतीय बाजार में क्रिकेट जूते और परिधान की आपूर्ति जारी रखेगा और केवल क्रिकेटरों रोहित शर्मा, ऋषभ पंत और कुलदीप यादव के लिए जूते और कपड़ो को प्रायोजित करेगा। उसने पिछले वर्ष कोहली को अलविदा कहा।उधर एडिडास के स्टिकर के साथ खेलनेवाले क्रिकेटर केएल राहुल ने भी पुमा के साथ जूते और कपड़ों के प्रायोजन के लिए इंकार किया है।
एसएस के प्रबंध निदेशक जतिन सारीन बोले –‘पहले ये वैश्विक कंपनियां प्रायोजन की कीमतें आसमान तक ले जाती हैं और जब उन्हें एहसास होता है कि यह वास्तविक नहीं है और घाटा होने लगता है, तो कन्नी काटकर चल देती हैं।
भारतीय प्रतिद्वंद्वी कीमत आसमानी होने से और खफा
ग्लोबल स्पोर्ट्सवियर के इन दिग्गजों को प्रतिस्पर्धा के कारण कीमतों में लगातार हो रही कमी के नजरिए यह क्रांतिकारी कदम उठाना पड़ा है। बल्लेबाजी के पैड और ग्लव्स बनानेवाली एडिडास कंपनी ने क्रिकेट उपकरण बनाने की ईकाई पूरी तरह से बंद कर देने का फैसला ले लिया है। नाइकी पहले ही भारत से क्रिकेट उपकरण और स्पॉन्सरशिप से हट गया है सरसरी तौर पर उसने यह आभास कराया है कि सामान निर्माण का जिम्मा वह आउटसोर्स करवाएगा।
इस समय नए खिलाड़ी के बल्ले पर स्टिकर के लिए करीब पचास लाख दिए जाते हैं जबकि विराट कोहली जैसों के लिए यह राशि 6-8 करोड़ के आसपास बैठती है। वर्तमान में, एमआरएफ और सीट और स्थानीय क्रिकेट उपकरण निर्माताओं जैसे मेरठ स्थित संसपारेल्स ग्रीनलैंड्स (एसजी) और सारेन स्पोर्ट्स (एसएस) समेत टायर कंपनियां ने बैट प्रायोजन पर कब्जा कर लिया है।
ऐसी रोचक और अनोखी न्यूज़ स्टोरीज़ के लिए गूगल स्टोर से डाउनलोड करें Lopscoop एप, वो भी फ़्री में और कमाएं ढेरों कैश वो भी आसानी से
YOUR REACTION
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0
  • 0

Add you Response

  • Please add your comment.